दुल्हन बनने से पहले जानें फ्लोरल ज्वेलरी के ये पहलू !



प्राचीनकाल से ही फूलों का शुभ आयोजनों में उपयोग किया जाता रहा है। शादियों में वरमाला और साज-सज्जा आदि में फूलों का बड़े पैमाने पर उपयोग होता आया है। आजकल फूलों को ज्वैलरी की तरह भी यूज किया जाने लगा है और ये दुल्हन की खूबसूरती में चार चाँद लगाकर उसे खास बनाते हैं। अगर आपको भी फ्लोरल ज्वैलरी पहनने की इच्छा है, तो पहले इसके बारे में कुछ खास बातें जान लें।

1. कई ऑप्शन्स हैं फ्लोरल ज्वैलरी में :- 



कई डिजाइन्स में आने वाली ये ज्वैलरी आप अपनी चॉइस से सलेक्ट कर सकती हैं। इसमें आपको झुमके, कंगन, पायल, मांगटीका और हार मिलते हैं लेकिन इसके अलावा भी आप ज्वैलर से ऑर्डर करके ज्वैलरी बनवा सकती हैं।

2. इन फूलों का होता है उपयोग :-


यूँ तो फ्लोरल ज्वैलरी में सभी प्रकार के फूलों का इस्तेमाल होता है, लेकिन आपकी ज्वैलरी के लिए फूलों का चयन आपकी ड्रैस के रंगों के हिसाब से होता है। गुलाब, चमेली, रजनीगंधा, कन्द आदि फूलों का फ्लोरल ज्वैलरी बनाने में सबसे ज्यादा यूज होता है।

3. इतने दिन चलती है :- 


आपको कई लोगों ने कहा होगा कि ये ज्वैलरी जल्दी ही खराब हो जाती है, लेकिन वो बिल्कुल गलत हैं। क्योंकि इस ज्वैलरी को फ्रिज में सही तरीके से स्टोर करके आप इसे 3 दिन तक चला सकती हैं।

4. इतना वक़्त लगता है :- 



वैसे तो इस ज्वैलरी सैट को एक दिन में भी बनाया जा सकता है, लेकिन इसके लिए आपको 1 महीने पहले ऑर्डर देना चाहिए। ऐसा करने से आप समय रहते अपनी ज्वैलरी में आवश्यक सुधार करवा सकती हैं और रंगों का सही कॉम्बिनेशन भी चुन सकती हैं। ज्वैलर एक मीटिंग में इन सब चीजों के बारे में बात करता है और फिर तय समय पर आपकी ज्वैलरी तैयार हो जाती है।

अपनी शादी या फिर किसी और फंक्शन में फ्लोरल ज्वैलरी पहनकर आप लोगों की नज़रों में छा सकती हैं।


दुल्हन बनने से पहले जानें फ्लोरल ज्वेलरी के ये पहलू ! दुल्हन बनने से पहले जानें फ्लोरल ज्वेलरी के ये पहलू ! Reviewed by Beauty Special on January 19, 2018 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.